कोरोना संक्रमण से पिडित ट्रैफिक निरिक्षक अनिल पवार का निधन


अनिल पवार

चतुर्भुजा शिवसागर पाण्डेय
हिन्द सागर भाईंदर। मिराभाईंदर मे काशीमीरा ट्रैफिक पुलिस निरिक्षक पद पर तैनात अधिकारी अनिल पवार का बुधवार सुबह अंधेरी के सेवन हिल्स हास्पीटल मे देहांत हो गया। वह पिछले आठ दिनों से कोरोना संक्रमण से पीडित थे। अनिल पवार का जन्म पुणे शहर के शिवाजी नगर मे हुआ तथा इनकी शुरुवाती शिक्षा-दिक्षा भारत इंग्लिश हाईस्कूल से होते हुए मार्डन डिग्री काँलेज महाराष्ट्र मे संपन्न हुआ। अनिल पवार विभिन्न स्थानों से होते हुए मिराभाईंदर के काशीमीरा विभाग मे ट्रैफिक निरिक्षक के रुप मे कार्यरत थे। बताया जा रहा है की अनिल पवार के साथ तैनात इनके सहकर्मी भी कोरोना से संक्रमित होकर हास्पिटल मे दाखिल हैं। पुलिस महकमे में कोरोना वायरस का संक्रमण बढता ही जा रहा है।
हर वक्त एक योद्धा की तरह अपनी ड्यूटी पर तैनात अनिल पवार बेहद मिलनसार अधिकारी माने जाते थे। हिन्द सागर समाचारपत्र से बात करते हुए आदित्य टुडे (स्कूल इवेंट संस्था) के मैनेजर पंकज मिश्रा बताते हैं कि कोरोना लाकडाउन के दौरान स्वाखर्चे से सडक पर पैदल यात्रा कर रहे गरीब जरूरतमंदों को भोजन, पानी व अल्पाहार का वितरण कर शहर मे चर्चा का विषय बन गए थे। इससे आगे बढते हुए पंकज ने बताया कि अभी हाल ही मे नाझरथ स्कूल प्रिंसिपल के बुलावे पर एक प्रोग्राम में आए अनिल पवार ने सभी से सम्मुख होकर ट्रैफिक के नियमों का पालन करने तथा शहर के प्रति अपनी जिम्मेदारियों को निर्वाह करने का सबक सिखाया। कोरोना लाकडाउन के दौरान उनके नेतृत्व में ट्रैफिक पुलिस की टीम दिन रात नियमों का उल्लंघन करने वाले वाहनों तथा चालकों पर कार्रवाई करने में जुटी रही। उनके असामयिक निधन पर पुलिस कर्मचारियों सहित पूरा शहर गमगीन है।