सवा लाख पार्थिव शिवलिंग का पूजन एवं जलाभिषेक संपन्न

भगवान शिव की प्रसन्नता व अनुग्रह प्राप्ति हेतु

हिन्द सागर, विनोद मिश्र / सीतामढ़ी: बिहार के मिथिलांचल क्षेत्र में सीतामढ़ी जिला अंतर्गत सुप्पी प्रखंड के मोतीपुर ग्राम में मंगलवार को समस्त ग्रामवासियों ने एकजुट होकर सवालाख पार्थिव शिवलिंग का पूजन एवं जलाभिषेक का अनुष्ठान भक्तिमय वातावरण में संपन्न किया। करीब २० वर्षों बाद इस ग्राम में संपन्न हुए इस यज्ञ (लखराम) में सभी महिलाओं, पुरुषों और बच्चों ने बड़े उत्साह से हिस्सा लिया। सभी महिलाएं सुबह से ही अपने-अपने घरों से शुद्ध मिट्टी के पार्थिव शिवलिंग का निर्माण कर ग्राम के शिवालय में पहुंचाना शुरू कर दिया था। शाम तक संपन्न हुए इस शिव आराधना के उपरांत हवन-आरती और नचारी गीत-संगीत के साथ कार्यक्रम का समापन हुआ। इस शिव आराधना ,पूजन के यजमान सपत्नीक सूर्यशेखर मिश्र थे तथा इस महायज्ञ को पंडित शुभकांत मिश्र ने वेद मंत्रोच्चार के साथ विधि विधान पूर्वक पूर्ण कराया।

इस संपूर्ण शिव आराधना के दौरान ग्राम के ही सेवानिवृत्त शिक्षक हरेकृष्ण झा ने माँ दुर्गा सप्तशती का पाठ किया। वहीं हर्षित नारायण मिश्र, कुशेश्वर मिश्र, उमेश मिश्र, शशिमाधव झा, आंनद मिश्र, राजवंशी शाह,अमर ठाकुर आदि ने भगवान शिव को प्रिय नचारी गाकर उन्हें प्रसन्न करने का प्रयास किया। गजेंद्र झा, नित्यानंद झा, सौरभ झा, नवनीत झा, मुकेश मिश्र, ब्रजकिशोर झा,कैलाश मिश्र, छोटक मिश्र,रविंद्र झा, अभय मिश्र आदि ग्रामीणों ने प्रत्यक्ष पार्थिव शिवलिंग पूजन एवं जलाभिषेक में सहभागी हुए। इस पूजन आराधना के दौरान भुवनेश्वर मिश्र, रामदेव मिश्र, इन्द्रकिशोर झा, मुरारी झा, तेजनारायण मिश्र ,पूर्वी अखता की पंचायत सचिव कुंती देवी, मोतीपुर ग्राम की आंगनवाड़ी सेविका मीरा चौधरी, विद्या देवी, महाकाली देवी (हनुमान दाई) ,सुधा देवी, गुलावती देवी, जीवन देवी,माया देवी, मंजू देवी,अंजू देवी संगीता देवी,उमा देवी,उषा देवी आदि ग्रामीण महिलाएं तथा प्रियंका कुमारी, प्रिया कुमारी अलका कुमारी, शिखा कुमारी, कल्याणी कुमारी, बेबी कुमारी आदि किशोरियां भी विशेष रूप से भक्तिमय समायोजन में उपस्थित रहकर आशीर्वाद और अनुकंपा प्राप्त की।

इस महत्त आयोजन हेतु समस्त ग्रामीणों से सानुग्रह अनुदान जमा करने में कुंजबिहारी मिश्र, उमेश मिश्र, प्रभाकर झा, रविंद्र झा, रामचंद्र मिश्र (व्यासजी) हर्षित नारायण मिश्र आदि ने अपना अमूल्य योगदान दिया।

बता दें कि इस वर्ष बिहार, उत्तरप्रदेश आदि राज्यों में आशातीत वर्षा अभी तक नही हुई है। जिससे किसानों के फसलों को भारी क्षति पहुंच रही है। अकाल जैसी स्थिति उतपन्न नही हो। समय पर समुचित वर्षा हो, फसलों की पैदावार भरपूर हो। इसके लिए भोलेनाथ और इंद्र देव की कृपा तथा आशीर्वाद प्राप्ति हेतु इस महायज्ञ (लखराम) का आयोजन किया गया था, ऐसी जानकारी मोतीपुर ग्रामीणों ने दी है।