नगर पालिका ने चर्च कैंपस पर चलाया बुलडोजर,सैकड़ों परिवार भुखमरी के कगार पर

  1. बस्ती। जिला प्रशासन वर्तमान समय में फॉर्म में है। हाल ही में जिला पंचायत की सम्पत्ति व भवनों पर ध्वस्तिकरण तथा सीलिंग की कार्रवाई की है । प्रशासन के इस कदम से सैकड़ों लोग बेरोजगार हो गये हैं। सरकार लोगों को रोजगार तो दे नही सकती, अलबत्ता सैकड़ों दुकानदारों का निवाला छीन लिया।
    अभी हाल ही में जिला प्रशासन ने टाउन क्लब परिसर में बने दर्जनों दुकानों को अवैध कब्जा मानते हुए बुलडोजर चलवाकर ध्वस्त कर दिया। जिससे लगभग सैकड़ों परिवार सड़क पर आ गये और दाने- दाने के मोहताज हो गये, विरोध के स्वर तो मुखर हुए लेकिन प्रशासन के रौद्र रूप को देखते हुए विरोध करने का साहस कोई नही कर सका।
    दूसरी कार्रवाई विकास भवन के आस- पास वर्षों से रह रहे पूर्व जनप्रतिनिधियों के आवासीय भवनों को सील कर दिया गया। जिससें प्रशासन की चौतरफा निन्दा हुई और लोगों में आक्रोश पैदा होने लगा। जबकि उसी क्रम में सदर विधायक दयाराम चैाधरी का आवास नही सील किया गया।जो प्रशासन के दोहरे मापदण्ड को प्रमाणित करता है।
    हद तो तब हो गई जब नगर पालिका ने रविवार को लगभग 36 दुकानों को बिना किसी पूर्व सूचना के सील करने के पश्चात चर्च कैंपस में सभी छोटी बड़ी दुकानों को ध्वस्त कर दिया। इसका परिणाम तो आने वाला समय ही बतायेगा ।