कोरोना मरीजों की बढती संख्या को देखते हुए पुर्व मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने मिराभाईंदर का जायजा लिया

★ प्रेस वार्ता के दौरान कोरोना कंट्रोल करने का भरोसा जताया

★ शहरवासियों को हरसंभव मदद दिलाने का भरोसा दिया।

★ पं. भीमसेन जोशी हास्पिटल मे चल रहे लापरवाही की जांच करने का माँग किया।

चतुर्भुजा शिवसागर पाण्डेय
हिन्द सागर भाईंदर। मिराभाईंदर मे बढती मरीजों की संख्या को देखते हुए पुर्व मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने मनपा सहित अस्पताल का निरीक्षण किया।
ज्ञात हो कि जब पूरे देश में अनलॉक-2 की प्रक्रिया शुरू हो चुकी है उसी दौरान मिराभाईंदर मे अप्रत्याशित रुप से कोराना मरीजों की संख्या मे वृद्धि हुई है। इसका कारण स्थानीय प्रशासनिक अधिकारियों की लापरवाही को माना जा रहा है। जिसके चलते मिराभाईंदर मे 10 दिन का लाँकडाउन पुन: घोषित है। मिराभाईंदर मे केवल पांच दिनो मे 988 मरीज मिले और 162 लोगों की मृत्यु हो गई है। स्थिति भयावह होती जा रही है, तथा प्रशासनिक अमला के पास कोई समुचित रोडमैप नहीं है। जिससे कारण मरीजों की परेशानियां बढ़ गई हैं। इसी का जायजा लेने महाराष्ट्र के लोकलाडले, जनता के बीच मे गहरी पैठ रखने वाले पुर्व मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने मिराभाईंदर का दौरा किया। इस दौरान उन्होंने मिराभाईंदर के एकमात्र सरकारी अस्पताल पं. भीमसेन जोशी हास्पिटल का जायजा किया। अस्पताल मुआयना के बीच ही एक महिला ने अस्पताल की लापरवाही के कारण उसके पति हेमंत सावे के देहांत होने की शिकायत किया। उन्होंने महिला के पति की मृत्यु पर दुख व्यक्त करते हुए पुर्ण न्याय दिलाने का भरोसा दिया। दौरा करने के बाद पत्रकारों से बात करते हुए उन्होंने कहा कि 100 बेड के हास्पिटल मे जगह खाली होने के बाद भी मरीजों को भर्ती नही किया जा रहा है। लोगों को प्राइवेट अस्पतालों में जाने को मजबूत किया जाता है। अस्पताल कर्मचारियों के व्यवहार को लेकर भी सवाल खडा करते हुए कहा कि जनता हमारे लिए सर्वोपरी है, और जनता के साथ लापरवाही बर्दाश्त नहीं किया जा सकता। प्रेस वार्ता के पहले हुए आयुक्त से मुलाकात के बारे में बताते हुए कहा कि हमने आयुक्त से और बडी संख्या मे टेस्टिंग कराने के लिए कहा है। साथ ही प्राइवेट अस्पतालों द्वारा वसूले जा रहे मनमानी रकम के जाँच कराने की बात कही है।

बताते चलें कि देवेन्द्र फडणवीस ने अपने मुख्यमंत्री काल मे मिराभाईंदर पर विषेश कृपादृष्टि रखते हुए नरेंद्र मेहता के नेतृत्व में काफी विकास किया था। फडणवीस और मेहता द्वारा पंचवर्षीय कार्यकाल के समग्र विकास पर मिराभाईंदर सदैव गर्व करेगा।