नहीं मिला आई लव यू का जवाब, तो सॉरी कहकर आठवीं मंजिल से कूद पड़ा असिस्टेंट कमिश्नर का बेटा

हिन्द सागर, उत्तर प्रदेश संवाददाता: उत्तर प्रदेश के झांसी में वाणिज्यकर विभाग के असिस्टेंट कमिश्नर के बेटे ने खुदकुशी कर ली है. वह शहर की सबसे ऊंची बिल्डिंग रॉयल सिटी की 8वीं मंजिल से कूद गया.

खुदकुशी से पहले उसने रॉयल सिटी में ही दूसरी मंजिल पर रहली वाली एक लड़की के मोबाइल पर ‘आई लव यू’ का संदेश भेजा, जब इसका जवाब नहीं आया तो फर्श पर ‘सॉरी’ लिखकर आठवीं मंजिल से छलांग लगा दी. सूचना मिलने पर मौके पर पहुंची पुलिस ने सीसीटीवी फुटेज और मोबाइल फोन कब्जे में लेकर मामले की जांच शुरू कर दी है.

पुलिस ने बताया कि असिस्टेंट कमिश्नर राजीव कुमार शाक्य अपनी पत्नी के साथ किसी काम से नोएडा गए थे. जबकि उनका 17 वर्षीय बेटा कौस्तुभ अपनी चचेरी बहन के साथ घर पर था. कौस्तुभ खाना खाने के बाद बिल्डिंग की लॉबी में मोबाइल पर बात करते हुए टहल रहा था. सीसीटीवी फुटेज में कई बार कौस्तुभ एक मंजिल से दूसरी मंजिल और दूसरी मंजिल से तीसरी मंजिल पर आता जाता नजर आ रहा है. पुलिस ने बताया कि कौस्तुभ ने सुबह करीब 3:30 बजे रॉयल सिटी के ही दूसरी मंजिल पर रहने वाली अपनी फ्रेंड को आई लव यू लिखा संदेश भेजा, इसके बाद उसने काफी देर तक इंतजार किया. जब उसकी ओर से कोई जवाब नहीं आया तो वह 8वीं मंजिल पर चला गया. जहां उसने रेलिंग पर मोबाइल फोन रखा और फर्श पर सॉरी लिखने के बाद रेलिंग से बाहर की ओर छलांग लगा दी.

इंस्टा पर लिखा-सुड आई जंप

मृतक कौस्तुभ ने खुदकुशी से पहले अपने पांच दोस्तों के साथ इंस्टाग्राम पर चैटिंग की. उसने दोस्तों से पूछा सुड आई जंप, क्या मैं कूद जाऊं. लेकिन उस समय किसी ने कोई जवाब नहीं दिया. उसके दोस्तों ने बताया कि वह काफी समय से परेशान था. अजीब तरह की बातें करता रहता था. बताया जा रहा है कि यह स्थिति उसके एकतरफा प्यार की वजह से थी. झांसी पुलिस के सीओ सिटी राजेश कुमार राय का कहना है कि कौस्तुभ ने सुसाइड की है. उसके पास से जो मोबाइल मिला है उसमें किसी लड़की को आई लव यू लिखने का जिक्र है. पुलिस हर पहलू पर जांच कर रही है. फिलहाल उसका पोस्टमार्टम कराकर परिजनों ने अंतिम संस्कार कर दिया है.

घंटों बाद लोगों को हुई घटना की जानकारी

पुलिस के मुताबिक इस घटना की जानकारी सोसाइटी वासियों को भी काफी देर से हुई. सुबह जब सोसाइटी के लोग टहलने के लिए निकले तो उन्होंने बिल्डिंग के नीचे कौस्तुभ को पड़ा देखा. काफी देर तक तो लोग उसे पहचान भी नहीं पाए. बाद में पहचान हुई तो परिजनों और पुलिस को सूचना दी. इसके बाद मौके पर पहुंची पुलिस ने शव कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेजा है.

12वीं का छात्र था कौस्तुभ

परिजनों ने बताया कि 17 वर्षीय कौस्तुभ 12वीं का छात्र था. वह झांसी के जय एकेडमी में पढ़ता था. दोस्तों ने बताया कि वह क्लास में भी अक्सर गुमसुम रहता था. उसके कॉलेज में केवल दो से तीन ही दोस्त थे. वह अपने दोस्तों से कहता रहता था कि उसका मन यहां नहीं लगता. उसे देश से बाहर जाना है. वह पढ़ने में काफी होशियार था और बड़ा होकर आईएएस अफसर बनना चाहता था.