बहुचर्चित छोटी देवी प्रजापति हत्याकांड, बनी सरकार के गले की हड्डी, चार माह बाद भी पुलिस अंधेरे में

राजस्थान सहित बैंगलोर प्रजापति समाज का आक्रोश चरम पर, आरपार की लडाई की तैयारियां जोरों पर

आईजी हवासिंह घुमरिया की प्रतिष्ठा दांव पर, अपराधी घूम रहे बेखौफ

हिन्द सागर न्यूज बैंगलोर: नागौर जिले की मेड़ता सिटी निवासी छोटी देवी प्रजापति 75 साल की 22 जून 2020 को दोपहर 12.30 बजे अग्रवाल भवन से लापता होने के बाद, 23 जून को सुबह अग्रवाल भवन के पास छोटी देवी की लाश मिली थी, इस घटना ने प्रजापति समाज को झकझोर कर रख दिया। जैसे जैसे समय बीत रहा था पुलिस को हवा मे तीर चलता देख कर प्रजापति समाज के लोगो मे अपराधियों की गिरफ्तारी नहीं होने से आक्रोश बढता रहा, पुलिस टीम पर टीम का गठन करती रही मुलजिमों की गिरफ्तारी की मांग को लेकर धरना प्रदर्शन का दौर शुरू हो गया।


नागौर पुलिस की नाकामियों ने आग मे घी का काम किया मुल्जिमो की गिरफ्तारी के लिये आम जनता का दबाव बढता रहा। राजस्थान के समस्त जिला मुख्यालयो से लेकर तहसील मुख्यालयो तक आवाज बुलंद किये जाने लगे। पुलिस की नाकामयाबी के खिलाफ छोटी देवी के पुत्र और पौत्री और राष्ट्रीय युवा शक्ति संगठन के अध्यक्ष श्री मान नारायण लालजी प्रजापति के नेतृत्व में मेड़ता से पैदल नागौर जिले के लिए मार्च किया गया जो 9 दिन बाद नागौर जिला पुलिस अधीक्षक द्वारा दो पुलिस अधिकारी को भेजकर वार्तालाप के लिए आमंत्रित किया गया, जिला पुलिस अधीक्षक शवता धन्कड से वार्ता हुयी तो तुरंत प्रभाव से मुलजिमों को गिरफ्तार करने की बात करने पर धरना प्रदर्शन नागौर मे रोक दिया गया। किन्तु नागौर पुलिस द्वारा अपराधियों की गिरफ्तारी को कौन कहे उनका अता पता भी नहीं लगा पाने से 22 अक्टूबर को नागौर से जयपुर मुख्यमंत्री और गृह मंत्री से फरियाद करने पैदल रवाना हो गई।

आक्रोशित जन सैलाब को नागौर प्रशासन ने पूरे दिन भर रोकने की कोशिश की लेकिन मृतक के परिजन पुत्र पौत्री और प्रजापति समाज के लोग नारायण लाल जी के नेतृत्व मे मुल्जिमो के गिरफ्तारी तक धरना प्रदर्शन जारी रखने का अटल निर्णय लिया और शाम को जयपुर के लिए पैदल रवाना हो गए, 235 किलो मीटर पैदल चलकर मुख्यमंत्री से न्याय की गुहार किए जाने को लेकर पुलिस विभाग के पसीने छूटने लगे अजमेर रेंज के आईजी हवासिंह घूमरिया ने प्रकरण की फाइल मेड़ता से तलब करके तत्काल प्रभाव से, नयी जांच टीम गठित कर प्रभारी क्राइम विजिलेंस एएसपी वेभव शर्मा को केस सौपा गया। लेकिन अभी तक मुल्जिमो की गिरफ्तारी नहीं हो सकी है।

राष्टीय युवा शक्ति संगठन के अध्यक्ष श्री मान नारायण लाल जी ने कहा कि प्रजापति समाज के ज्यादा से ज्यादा लोग 4 नवंबर को कालवाड से मुख्यमंत्री निवास तक पैदल मार्च मैं शामिल होकर समाज की एकता के बल पर सरकार को घुटने टेकने के लिये बाध्य करने मे अपना योगदान दे।